29 C
Mumbai
Tuesday, October 19, 2021
Homeअर्थ-व्यापारभारत में आर्थिक मंदी के प्रति चिंता के मध्य आईएमएफ ने विकास...

भारत में आर्थिक मंदी के प्रति चिंता के मध्य आईएमएफ ने विकास दर का अनुमान घटाया

रिपोर्ट – सज्जाद अली नायाणी

देश-विदेश (अर्थ-व्यापार) – अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष आईएमएफ़ ने भारत के वित्त वर्ष 2019-20 में रहने वाली विकास दर के लिए अनुमान घटा दिया है। आईएमएफ के  ताज़ा अनुमान के अनुसार भारत की जीडीपी इस वर्ष 6 दशमलव 1  प्रतिशत की गति से विकास करेगी जबकि आईएमएफ ने 2019 में वैश्विक आर्थिक वृद्धि दर का अनुमान घटाकर 3 प्रतिशत कर दिया है।

आईएमएफ के अनुसार एक दशक पहले आए वित्तीय संकट के बाद से वैश्विक अर्थव्यवस्था अब तक की सबसे धीमी गति से बढ़ रही है । इससे पहले इसी साल अप्रैल में आईएमएफ़ ने भारत की विकास दर 7.3  प्रतिशत रहने का अनुमान लगाया था। आईएमएफ़ ने वर्ल्ड इकोनॉमिक आउटलुक की अपनी हालिया रिपोर्ट में भारत की आर्थिक वृद्धि दर के अनुमान को कम करते हुए सन 2019-2020 के लिए उसे 6 दशमलव 1 प्रतिशत कर दिया है। आईएमएफ ने वर्ष  2020-21 में इसमें कुछ सुधार की आशा प्रकट की है।

याद रहे जेल में बंद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम और पूर्व वित्त मंत्री ने भी मंगलवार को अर्थव्यवस्था की दशा  पर भारत सरकार को एक बार फिर घेरते हुए कहा था कि अच्छी अर्थव्यवस्था अगर एक तरफ ले जाती है तो मोदी सरकार दूसरी ओर। उन्होंने भारतीय मूल के अर्थशास्त्री अभिजीत बनर्जी को नोबेल पुरस्कार जीतने के लिए बधाई दी है और कहा कि हमें उन्होंने भारतीय अर्थव्यव्था के बारे में जो कहा है उस पर ध्यान देना चहिए।

दरअस्ल अर्थशास्त्र के नोबेल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी ने सोमवार को कहा था  कि सरकार द्वारा तेजी से समस्या की पहचान करने के बावजूद भारतीय अर्थव्यवस्था बहुत बुरा प्रदर्शन कर  रही है। नोबेल पुरस्कार के लिए नाम की घोषणा के बाद बनर्जी ने एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान कहा कि मेरे विचार से अर्थव्यवस्था बहुत खराब कर रही है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments