32 C
Mumbai
Wednesday, October 27, 2021
Homeअर्थ-व्यापारमंदी की मार, अनिल अम्बानी अपना प्राइवेट जेट किराये पर देने को...

मंदी की मार, अनिल अम्बानी अपना प्राइवेट जेट किराये पर देने को तैयार

रिपोर्ट – रवि निगम

मुम्बई – हमारी सरकार या वित्‍तमंत्री निर्मला सीतारमण हो या दूसरे अन्य मंत्रियों को आर्थिक मंदी भले ही न दिख रही हो लेकिन देश में मंदी की मार का आंकलन इसी बात से किया जा सकता है कि व्यापार में मंदी और भारी कर्ज तले दबे कारोबारी अनिल अंबानी ने अब अपने खर्चों में कटौती करनी शुरू कर दी है। इसी दिशा में एक बड़ा कदम उठाते हुए उन्होंने अपना एक लग्जरी विमान किराए पर देने की योजना बनाई है।

इकोनॉमिक्स टाइम्स में छपी एक खबर के मुताबिक अंबानी की रिलायंस ट्रांसपोर्ट एंड ट्रेवल्स ने अपने तीन बिजनेस जेट्स में से एक 13 सीट वीले ग्लोबल-5000 को बेंगलुरु में एक वैश्विक चार्टर कंपनी को किराए पर देने के लिए रिलीज कर दिया है। मामले से जुड़े एक व्यक्ति ने कहा कि ‘यह वही विमान है जिसे अनिल अंबानी अपनी यात्रा के दौरान इस्तेमाल करते थे।’ रेगुलेटरी फाइलिंग के अनुसार रिलायंस ट्रांसपोर्ट के पास दो और अन्य विमान व एक हेलीकॉप्टर भी है।

https://mannetwork.in/wp-content/uploads/2019/12/img_20191208_200038.jpg
अभिनेता / कारोबारी – सचिन जोशी

खबर के मुताबिक एक्टर और कारोबारी सचिन जोशी की विकिंग एविएशन (Viking Aviation), इंडियाबुल्स की एयरमिड एविएशन, रेलीगेर की लिगारे एविएशन भी वित्तीय संकट का सामना कर रही हैं और अपने विमानों को बेचने पर विचार कर रही हैं। नागर विमानन महानिदेशालय (DGCA) के आंकड़ों के मुताबिक देश में नॉन शेड्यूल्ड ऑपरेटर की संख्या लगातार घट रही है। करीब एक साल पहले इनकी संख्या 130 थी जो इस साल सितंबर में घटकर 99 हो गई।

मामले से जुड़े एक अन्य शख्स ने कहा, ‘कारोबार में गिरावट थम नहीं रही है क्योंकि उनमें से कई ऐसे व्यापारी हैं जो संकट में हैं और अपना कारोबार बंद करना चाह रहे हैं।’ वहीं रिलायंस ट्रांसपोर्ट, वाइकिंग, इंडियाबुल्स और लिगारे ने अखबार द्वारा पूछे गए सवालों के जवाब नहीं दिए।

घटनाक्रम से जुड़े सूत्रों ने बताया कि वाइकिंग एविएशन के मालिक सचिन जोशी के पास अपने दो एयरक्राफ्ट के संचालन के लिए प्रार्याप्त फंड नहीं है। इनमें एक एयरक्राफ्ट मुंबई एयरपोर्ट पर पार्क्ड है जबकि दूसरा नांदेड़ में है। एक व्यक्ति ने बताया कि कंपनी ने पिछले चार महीने से कर्मचारियों को वेतन का भुगतान तक नहीं किया है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments