26 C
Mumbai
Tuesday, October 26, 2021
Homeआपकी अभिव्यक्तिआपकी अभिव्यक्ति - क्यों कर एग्जिट पोल सर्वे में है इतनी भिन्नता,...

आपकी अभिव्यक्ति – क्यों कर एग्जिट पोल सर्वे में है इतनी भिन्नता, क्या व्यक्ति विशेष को खुश करने की मची होड़ ? – रवि जी. निगम

अब चैनलों पर मची है होड़ , कौन कितना …… (रिक्त स्थान की स्वतः पूर्ति करें) आगे ? जनता इतना भ्रमित हो रही है कि आखिर किसको माने सच और किसको माने झूठ ! क्या ये सर्वे व्यक्ति विशेष के खातिर या समर्थकों को खुश करने का तरीका या टीआरपी गेन करने का अस्त्र ?

तो आखिर जनता अपने आपको क्या समझे ? या टीवी को समझे बेबकूफ बनाने वाला डब्बा ? या फिर ममता बनर्जी द्वारा सर्वे पर लगाया जा रहा आरोप ? आखिर कौन सच है, कौन झूट ? या तो उसके लिये करें २३ मई इंतजार ?

प्रस्तुत हैं सर्वे के नमूने या कह सकते हैं नमूनों का सर्वे (आप बाकी शब्दों का चयन स्वतः करें) ? ये आपके विवेक और नजरिये पर निर्भर करता है।

मानवाधिकार अभिव्यक्ति, आपकी अभिव्यक्ति ।

सौजन्य से सभी समिग्री –

लेकिन इस Exit Poll के मुताबिक BJP को नहीं मिल रहा है बहुमत ।

19 मई को लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण का मतदान हो पूरा होने के साथ ही कयासबाजी और एग्जिट पोल का दौर शुरू हो चुका है. 23 मई को नतीजे आने से पहले तमाम तरीके के सर्वे बाजार में आने वाले हैं. हम आपको हर सर्वे, हर एग्जिट पोल और हर तरह की चुनावी चक्कलस से अपडेट रखेंगे. इस स्टोरी में हम आपको बताने जा रहे हैं कि अंग्रेजी न्यूज़ चैनल NEWS-X और सर्वे एजेंसी Neta का एग्जिट पोल आने वाली लोकसभा का कैसा खाका पेश कर रहे हैं.

NEWS-X Neta एग्जिट पोल की माने तो देश में त्रिशंकु लोकसभा आने जा रही है. इस सर्वे के मुताबिक बीजेपी के नेतृत्व वाल गठबंधन NDA बहुतमत के सबसे करीब है. इस सर्वे के मुताबिक NDA को 242 सीट मिलने जा रही है. अकेले बीजेपी को महज 202 सीट मिल रही है. वहीं कांग्रेस के नेतृत्व वाले गठबंधन UPA को 164 सीट मिलने की उम्मीद हैं. 136 सीट क्षेत्रीय दलों के खाते में जा रही रही हैं.

NDA242
UPA165
अन्य136

उत्तर प्रदेश: बीजेपी को बड़ा नुकसान 

उत्तर प्रदेश लोकसभा सीटों के लिहाज से सबसे बड़ा राज्य है. पिछली बार बीजेपी ने इस सूबे से 71 सीट जीतने में कामयाब रही थी और केंद्र में बीजेपी की पूर्ण बहुमत की सरकार बनी थी. इस बार चुनाव में सपा-बसपा के गठबंधन के बाद बीजेपी के लिए चुनौती कठिन हो गई है. News-x और Neta के सर्वे के मुताबिक उत्तर प्रदेश में महागठबंधन को बढ़त मिलती दिखाई दे रही है. इस सर्वे के मुताबिक उत्तर प्रदेश में बीजेपी गठबंधन को 34 सीट मिल रही हैं. वहीं महागठबंधन को 40 सीट मिल रही हैं. वहीं 2 सीट अन्य के खाते में जा रही हैं.

BJP+ 33
महागठबंधन 43
कांग्रेस 04
अन्य 01

बिहार: मुकाबला बराबरी का है

पिछले पांच साल बिहार के लिए राजनीतिक उठापटक और बदलती वफादारियों वाले साल रहे. नितीश कुमार ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में नतीजों के ठीक बाद लालू यादव से गठबंधन तोड़कर बीजेपी का दामन थाम लिया था. इस बार लालू प्रसाद यादव की पार्टी RJD के नेतृव में एक महागठबंधन बना है जिसमें जीतनराम मांझी और उपेंद्र कुशवाहा जैसे कई क्षेत्रीय नेता शामिल हैं. वहीँ बीजेपी और नितीश कुमार की पार्टी JDU गठबंधन में चुनाव लड़ रही हैं. अगर  NEWS-X Neta एग्जिट पोल की माने तो बिहार में इस बार कांटे की टक्कर है. बीजेपी गठबंधन को सूबे में 21 सीट मिल रही हैं. जिसमें बीजेपी और जेडीयू के खाते में 9-9 सीट आ रही हैं. वहीं रामविलास पासवान की पार्टी लोजपा को 3 सीट मिलने की संभावना है.

वहीं महागठबंधन को 19 सीट मिलती नजर आ रही हैं. 11 सीट के साथ लालू यादव की पार्टी राष्ट्रीय जनता दल सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभर रही है. वहीं कांग्रेस को पांच, मुकेश सहनी की पार्टी VIP को 1 और उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी RLSP को 2 सीट मिलने की संभावना है.

BJP+21
महागठबंधन19
अन्य0

चार महीने पहले जीते गढ़ हारी कांग्रेस

लोकसभा चुनाव से चार महीने पहले छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और राजस्थान में विधानसभा चुनाव हुए थे. इस तीनों राज्यों में कांग्रेस ने बीजेपी को शिकस्त दी थी. सियासी पंडित कह रहे थे कि शायद लोकसभा चुनाव में बीजेपी को यहां से नुकसान का सामना करना पड़े. 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी राजस्थान की सभी 25 सीट जीतने में कामयाब रही थी. मध्य प्रदेश में गुना और छिन्दवाड़ा की सीट को छोड़कर शेष 27 सीट बीजेपी के खाते में गई थी. छत्तीसगढ़ में भी यही तस्वीर थी. यहां बीजेपी 11 में 10 सीट जीतने में कामयाब रही थी.

NewsX और Neta के सर्वे के मुताबिक मध्य प्रदेश में बीजेपी को 2014 के मुकाबले नुकसान जरुर हुआ है लेकिन फिर भी सूबे में वो सत्ताधारी कांग्रेस से ज्यादा मजबूत दिखाई दे रही है. यहां बीजेपी को 18 सीट हासिल होने की संभावना है. वहीं कांग्रेस को 11 सीट मिल रही हैं. यहां कांग्रेस को पिछली बार महज 2 सीट मिली थीं.

BJP18
कांग्रेस11
अन्य0

दिसंबर 2018 में हुए विधानसभा चुनाव की हार को पीछे छोड़ते हुए बीजेपी ने राजस्थान में अपने प्रदर्शन को काफी बेहतर किया है. राजस्थान में अब तक यह ट्रेंड रहा है कि जो पार्टी विधानसभा चुनाव जीतती है, उसे लोकसभा चुनाव में भी भारी बढ़त मिलती है. 2009 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को सूबे की 25 से 21 सीटों पर जीत मिली थी. 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी सभी 25 सीट जीतने में कामयाब रही थी. NewsX और Neta के सर्वे के मुताबिक यह ट्रेंड बदलते हुए दिखाई दे रहा है. इस सर्वे के मुताबिक राजस्थान में बीजेपी को 17 सीटें मिल रही हैं. वहीं कांग्रेस 7 सीटों पर सिमट सकती है.

BJP17
कांग्रेस8
अन्य0

दिसंबर 2018 में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ में सबसे बड़ी जीत दर्ज की थी. इससे यह कयास लगाए जा रहे थे कि लोकसभा चुनाव में बीजेपी को यहां भारी नुकसान झेलना पड़ सकता है. 2014 में बीजेपी ने सूबे की 11 में से 10 सीटों पर जीत दर्ज की थी. NewsX और Neta के सर्वे के मुताबिक कांग्रेस को इस सूबे में बढ़त मिलती दिख रही है. कांग्रेस को छत्तीसगढ़ में 7 सीट मिलने की उम्मीद है वहीँ बीजेपी के खाते में 4 सीट जाने की संभावना है.

BJP7
कांग्रेस4
अन्य0

बंगाल : ममता के किले में सेंध 

पश्चिम बंगाल इस लोकसभा चुनाव में राजनीतिक हिंसा को लेकर खबरों में रहा है. बड़े पैमाने पर हो रही चुनावी हिंसा और बूथ कैप्चरिंग की खबरों के बीच सबकी नजरें बंगाल के चुनावी नतीजे पर टिकी हुई हैं. NewsX और Neta के सर्वे के मुताबिक पश्चिम बंगाल में ममता की पकड़ ढीली होती नजर आ रही है. 2014 के लोकसभा चुनाव में तृणमूल कांग्रेस को 42 में से 34 सीट हासिल हुई थीं. वहीं बीजेपी के पास महज 2 सीट थीं. इस बार बीजेपी को सूबे में 11 सीट मिलने की उम्मीद जताई जा रही है. TMC का आंकड़ा 29 बताया जा रहा है. वहीं कांग्रेस के 2 सीटों पर जीत दर्ज करने की संभावना है. 34 साल बंगाल में राज करने वाला वाम के शून्य पर पहुंचने की आशंका है.

TMC29
BJP11
कांग्रेस2
Left0
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments