32 C
Mumbai
Wednesday, October 27, 2021
Homeदिल्लीबाबा रे बाबा एक और रेपिस्ट बाबा !अय्याश बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित...

बाबा रे बाबा एक और रेपिस्ट बाबा !अय्याश बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित के कारनामों को लेकर बड़ा और चौंकाने वाला खुलासा । —– विशाल श्रीवास्तव

नई दिल्ली: दिल्ली से फरार पाखंडी बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित के तिहाड़ जेल जैसीआध्यात्मिक यूनिवर्सिटी से कल 41 नाबालिग लड़कियां छुड़ाई गई और दावा किया जा रहा है कि इस कथित आध्यात्मिक यूनिवर्सिटी में इस वक्त भी दो सौ लड़कियां कैद हैं जिन्हें आज़ाद कराने के लिए दिल्ली महिला आयोग औरदिल्ली पुलिस की बड़ी कार्रवाई जारी है। बताया जा रहा है कि यह धार्मिक विश्वविद्यालयअय्याशी का अड्डा था। यहां कुछ लड़कियों को बहला फुसला कर लाया जाता था तो कुछ को पाखंडी बाबा के अंध भक्त दान कर जाते थे। खुद को भगवान बताने वाला ये बाबा वीरेंद्र देव इन्हीं लड़कियों का फिर ब्रेन वॉश कर उनका यौन शोषण करता था।
अय्याश बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित के कारनामों को लेकर बड़ा और चौंकाने वाला खुलासा हो रहा है। दिल्ली पुलिस और दिल्ली महिला आयोग की संयुक्त टीम ने जब इनके धार्मिक विश्वविद्यालय पर रेड मारी तो इस किलेनुमा यूनिवर्सिटी में लोहे के कई दरवाज़े मिले जिन्हें खोलना सबके बस की बात नहीं थी। इन दरवाज़ों पर चौदह ताले लगे थे जिन्हें तोड़ने के बाद ही अंदर से 41 नाबालिग ल़ड़कियां छुड़ाई जा सकीं।
आध्यात्मिक विश्वविद्यालय के अंदर एक आश्रम भी हैस्थानीय लोगों के मुताबिक़ आश्रम में सेक्स रैकेट चलता हैसाल 2000 में बाबा पर आश्रम में लड़की सेरेप का आरोपदिल्ली के विजय विहार इलाक़े में वीरेंद्र देव पर रेप केस दर्जआश्रम में सैकड़ों लड़कियों को बंधक बनाने का भी आरोपरात को आश्रम से आती हैं लड़कियों के चीखने की आवाज़पीड़ित लड़कियों के मुताबिक़ आश्रम में कई गुफा मौजूद हैंपीड़ितों के मुताबिक़ आश्रम के अंदर कई गुप्त रास्ते भी हैंख़ुद को भगवान राम, शंकर और कृष्णकहता है वीरेंद्र देव16 हज़ार रानियां बताकर लड़कियों से रेप का का आरोप

दिल्ली में रोहिणी के विजय विहार में पांच हजार गज में बने इस आश्रम में पिछले तीन दिन से रेड पड़ रही है। कल भी दिल्ली पुलिस यहां दल बल के साथ छापा मारने आई। तमाम शोर शराबे और हंगामे के बीच विश्विद्यालय के अंदर दाखिल हुई तो अंदर एक दो नहीं दर्जनों लड़कियों को देखकर दंग रह गई। ज्यादातर लड़कियों नाबालिग हैं। इसके बाद शुरू हुआ इन लड़कियों को यूनिवर्सिटी से बाहर निकालने के लिए सबसे बड़ा रेस्क्यू ऑपरेशन। कोई भी लड़कियों का चेहरा न देख सके ऐसे में लड़कियों को निकालकर कपड़ों से ढके बस में बिठाया गया और किसी सेफ होम ले जाया जा गया।
इस आश्रम में लड़कियां जब आ जाती थीं तो उन्हें बाहर निकलना तो दूर बाहर झांकने तक की इजाजत नहीं होती थी। ये धर्म के नाम पर पाप की वो दुनिया है जिसके पाखंडी बाबा वीरेंद्र देव ने अपनी अय्याशी के लिए बनाया था, जिस पर संगीन आरोप है कि वो अपने इस विश्विद्यालय में कैद की हुई लड़कियों को नशीली दवाइयां देता था। फिर बेहोशी की हालात में उन लड़कियों से रेप करता था, उनकी सीडी तैयार करता था और फिर ऐसे ब्लैकमेलकरता था कि लड़कियां दहशत के मारे बोल तक नहीं पाती थी।
बताया जा रहा है कि वीरेंद्र देव का अपना कानून था। उसके विश्विद्यालय में एक बार एडमिशन लेने के बाद लड़कियों की वापसी नामुमकिन थी। कल जब दिल्ली पुलिस ने यूनिवर्सिटी में कैद लड़कियों को छुड़ाने के लिए तीसरी बार छापा मारा तो उसे आध्यात्मिक विश्विद्यालय के अंदर के 14 ताले तोड़ने पड़े। छुड़ाई गईं 41 लड़कियों में तीन रिटार्यड इंस्पेक्टर की बेटियां बताई जा रही हैं। आध्यात्मिक यूनिवर्सिटी से कई अश्लीलसाहित्य और अश्लील वीडियो भी बरामद हुए।

बाबा जितना अय्याश है उसके अंधभक्त अनुयायी उतने ही खतरनाक। अभी दो दिन हुए जब इससे पहले छापा मारने पहुंची टीम को आश्रम में ही अनुयायियों ने बंधक बना लिया था हालांकि अब इस आश्रम के अंदर और बाहर पुलिस का कड़ा पहरा है क्योंकि इस बंद दरवाजे के अंदर अभी और भी महिलाएं और लड़कियां हैं जिन्हें आजाद कराना ही पुलिस और महिला आयोग का सबसे बड़ा मिशन है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments