29 C
Mumbai
Tuesday, October 19, 2021
Homeमहाराष्ट्र''घर का भेदी लंका ढाये'' मानवाधिकार अभिव्यक्ति का महाराष्ट्र की राजनीति पर...

”घर का भेदी लंका ढाये” मानवाधिकार अभिव्यक्ति का महाराष्ट्र की राजनीति पर विश्लेषण सटीक साबित हुआ – रवि जी. निगम

मुम्बई (महाराष्टू) – जो विश्लेषण में संदेह पूर्व में व्यक्त किया गया था आखिरकार वो सच साबित हुआ उस विश्लेषण में से साफ किया गया था या शंका जताई गयी थी।

४ नव्‍हेम्बर २०१९ को विश्लेषण पब्लिस किया गया था..!

मुम्बई – आखिर क्या है आश्वस्त होने का राज ? क्या अन्दर खाने बन रही है कोई रणनीति ? क्या घर का भेदी लंका ढाहेगा ? कौन हो सकता है विभीषण ? इसे हर पार्टी को विशेषत: चिन्तन – मनन करने की भी जरूरत है, क्या हरियाणा की तर्ज पर ही डिप्टी सीएम पद लगायेगा नैय्यापार ? ऐसे अनगिनत अनसुलझे सवाल मन में कौतूहल मचा रहे होगें, लेकिन ‘जानने वाले समझ रहे हैं, जो ना समझे वो अनाड़ी है’….!!!

क्या भाजपा की नई रणनीति कुछ इस प्रकार तैयार हो रही है ? भाजपा के 105 + अन्य के 29 + 21 (1 डिप्टी सीएम + 20 उसके अन्य साथी सदस्य) = 155 सीट जो बहुमत से 10 अधिक है, क्या ऐसा ही है आश्वस्त होने का राज ? यदि ऐसा है तो दूसरी पार्टियों को इस पर गौर अवश्य करना चाहिये, क्योंकि ये आकड़ा एक तिहाई तक बराबर पहुँचता है, और किसी भी पार्टी कॊ भले ही तोड़ने के लिये न काफी है ये दलबदल नियम के तहत कार्यवाही से भी बचाने में न सहायक हो, फिर भी इस पर उस पार्टी को विशेष ध्यान देनें की आवश्यकता है जो मुखर होकर भाजपा का विरोध कर रही है। ये अनुमान है सच भी साबित हो सकता है।

पूरा पढ़ने के लिये नीचे लिंक पर क्लिक करें . . . .

आपकी अभिव्यक्ति – क्या अन्दर खाने बन रही रणनीति ? अमित शाह से मुलाक़ात के बाद बोले फडणवीस , मैं आश्वस्त हूँ जल्द बनेगी सरकार !

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments